श्रीमद्भागवत कथा ज्ञानयज्ञ द्वारा हाबड़ा के बांधाघाट के बगेश्वर महादेव मंदिर में चल रहे आठ दिवसीय भागवत कथा के पांचवे दिन में भागवत आचार्य जय प्रकाश शास्त्री ने कल प्रभु श्रीराम एवं श्री कृष्ण के जन्मोत्सव की दिव्य कथा का वर्णन किया ! कथा को आगे बढ़ाते हुए श्री शास्त्री जी ने श्री कृष्ण के जन्मोत्सव की कथा सुनाते हुए बताया कि भगवान कहते हैं कि जब जब धरती पर पाप बढ़ेगा तब तब मैं अवतार लुगाँ और संसार हर समय से अवगत कराते हुए कारागार में अर्ध रात्रि में जन्म लिया। भगवान को माँ के स्नेह और ममता को महसूस करने के लिए धरती पर अवतार लेना पड़ता है और अपने जीवन को एक सीख के रूप में अपने भक्तों के लिए जीवन यापन करते हैं। आज कथा के छठे दिन बाल लीला,भगवान् के गिरिराज बनने की कथा सुनाएंगे ! श्रद्धालुओं और भक्तों ने श्री रतन लाल जी चौधरी, लक्ष्मीकांत तिवारी, प्रेम अग्रवाल, ललित खेतान, रतनलाल चौधरी, अशोक झुनझुनवाला, बजरंग गुप्ता, अमरनाथ गुप्ता, बाबुलाल धनानिया, बजरंग खड़किया,एवं श्री रामफल जी जिन्दल के परिवार के साथ श्री कृष्ण जन्मोत्सव बड़ी धूमधाम से मनाया।
श्रीमद् भागवत प्रचार समिति की ओर से मनोज लुहारीवाला ने सभी भक्तों को आज गिरिराज पूजन और छप्पन भोग के लिए सादर आमंत्रित किया !