भगवान के स्मरण से बढ़ता है मनोबल : स्वामी विशोकानंद
ब्रह्मलीन स्वामी कृष्णानंदजी द्वारा स्थापित सत्संग भवन, कोलकाता 50 वर्षों की स्वर्णिम यात्रा पूर्ण कर चुका है. कृष्ण, गोविंद, गोपाल गाते चलो भक्तिमय वातावरण में निर्वाण पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी विशोकानंदजी महाराज ने सत्संग भवन में अपने प्रवचन में कहा कि भगवान के स्मरण मात्र से भक्त का मनोबल बढ़ता है ! भक्त के मन में भगवान के प्रति आस्था बनी रहनी चाहिए. सांसारिक भोग, ऐश्वर्य में उलझ कर भगवान का स्मरण नहीं करने से मनुष्य का आत्मकल्याण संभव नहीं है !
    कार्यक्रम के पहले दिन राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी त्रिदिवसीय महोत्सव का उद्घाटन एवं स्वर्ण जयंती विशेषांक स्मारिका अध्यात्म ज्योति, दीप्त स्वर्ण- ज्योति का विमोचन शनिवार को सत्संग भवन में किया !कल दूसरे दिन सांसद सुदीप बंद्योपाध्याय, राज्य की मंत्री डॉ शशि पांजा, विधायक स्मिता बक्सी,पर्षादा मीना पुरोहित, समाजसेवी ओमप्रकाश भरतिया, बनवारीलाल सोती, गोविंद सारडा, कृष्ण कुमार सिंघानिया एवं महानगर के विशिष्ट समाजसेवी समारोह में उपस्थित थे !