पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को कहा कि जो कोई भी कोविड-19 के मरीजों के उपचार में लगे स्वास्थ्य कर्मियों का बहिष्कार करेगा, उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। बनर्जी ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम के लिए उनकी सरकार सभी जिलों में नोडल अस्पताल स्थापित करेगी। उन्होंने कहा, “स्वास्थ्य कर्मियों का बहिष्कार करने या ऐसा प्रयास करने वाले किसी भी व्यक्ति को तत्काल गिरफ्तार किया जाएगा। कानून अपना काम करेगा। स्वास्थ्य कर्मी लोगों को बचाने के लिए अपना सब कुछ दांव पर लगा रहे हैं।” मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में सरकार का साथ दे रहे स्वास्थ्य कर्मियों, सेनिटेशन कर्मियों और पुलिस कर्मियों का दस लाख रुपये का बीमा करवाया जाएगा। इससे पहले सरकार ने स्वास्थ्य क्षेत्र में काम कर रहे लोगों के लिए पांच लाख रुपये बीमे को मंजूरी दी थी। बनर्जी ने यहां एक समीक्षा बैठक में कहा, “शुरुआत में हमने डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों के लिए पांच लाख रुपये के बीमे की घोषणा की थी। अब इस राशि को बढ़ाकर दस लाख कर दिया गया है।” उन्होंने कहा, “इसके अलावा हमने सेनिटेशन और अन्य संबंधित कर्मियों को भी यह सुविधा देने का निर्णय लिया है। पुलिस कर्मियों को भी इस बीमा योजना का लाभ मिलेगा।”