पंचायत चुनाव में सत्ताधारी दल तृणमूल कांग्रेस द्वारा की जा रही हिंसा के मुद्दे पर शिकायत लेकर केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रिय सोमवार को राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी से राज भवन में मिले। दोनों के बीच लगभग 15 मिनट तक चर्चा हुई। बाद मे बाबुल ने पत्रकारों को बताया कि उन्होंने राज्य में हो रही चुनावी हिंसा पर राज्यपाल का ध्यान आकर्षित किया तथा मामले में हस्तक्षेप करने की अपील की। बाबुल ने कहा कि राज्य में संवैधानिक संकट की स्थिति है। यहां जनता के लोकतांत्रिक अधिकारों का हनन हो रहा है। तृणमूल ने गुंडे व पुलिस के दम पर विपक्षी दलों को पहले नामांकन करने से रोका तथा अब उन्हें डराया-धमकाया जा रहा है।
केंद्रीय मंत्री ने आरोप लगाया कि बंगाल में हिंसा के चलते जनता में भय व्याप्त है। लोग हिंसा के भय से अपने-अपने मतों का प्रयोग करने से भी डर रहे हैं। लोगों को इस बात का भय सता रहा है कि अगर उन्होंने मतों का प्रयोग किया तो चुनाव बाद उन पर तृणमूल का कहर टूट पड़ेगा। उन्होंने आरोप लगाया कि लोगों में इतना भय व्याप्त है कि वे सुरक्षित मतदान के बारे में सोच ही नहीं पा रहे। लोगों के मन में तृणमूल का खौफ भर गया है। बाबुल ने कहा कि उन्होंने राज्यपाल को तृणमूल के हिंसा व विशेष कर भाजपा नेताओं, उम्मीदवारों व समर्थकों पर तृणमूल कांग्रेस के हमले के बारे में विस्तार से जानकारी दी। बाबुल ने कहा कि राज्यपाल ने उनकी सारी शिकायतें ध्यान से सुनी तथा कदम उठाने का भरोसा दिया।