वुहान। शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग के बीच वुहान में पहली अनौपचारिक मुलाकात हुई। इस मुलाकात के दौरान पीएम मोदी ने जिनपिंग को एक ऐसा तोहफा दिया जिसे वह शायद हमेशा याद रखेंगे। मोदी ने जिनपिंग को उस चीनी कलाकार की पेटिंग्‍स गिफ्ट की हैं जिन्‍होंने पश्चिम बंगाल स्थित विश्‍व भारतीय यूनिवर्सिटी में बतौर शिक्षक अपनी सेवाएं दी थीं। इस कलाकार का नाम जू बेहोंग था और उन्‍हें 20वीं सदी में चीन का सबसे महान कलाकार माना जाता है। शनिवार को पीएम मोदी के चीन दौरे का दूसरा दिन है और इस दौरान उन्‍होंने जिनपिंग के साथ ईस्‍ट लेक के किनार मॉर्निंग वॉक के साथ इस पर नौका विहार का मजा भी उठाया। डोकलाम विवाद के बाद दोनों नेता पहली बार मिल रहे हैं।
20वीं सदी के महान कलाकार जू
जू को चीनी स्‍याही से घोड़े और पक्षियों की कलाकारी के लिए जाना जाता था। वह चीन के पहले ऐसे कलाकार थे जिनके भावों ने 20वीं सदी में मॉर्डन चीन की झलक दुनिया को दिखाई थी। उनकी जो पेंटिंग्‍स जिनपिंग को दी गईं हैं उसमें एस घोड़ा और चिड़‍िया घास पर हैं, यह पेंटिंग भी शामिल है। इसे जू ने उस समय बनाया था जब वह विश्‍व भारत में रुके थे। अधिकारियों की ओर से इस बात की जानकारी दी गई है। इन पेंटिग्‍स को खासतौर पर इंडियन काउंसिल फॉर कल्‍चर रिलेशंस यानी आईसीसीआर से ऑर्डर देकर मंगाया गया था। भारत में जब जू रुके थे तो उन्‍होंने रबींद्र नाथ टैगोर और महात्‍मा गांधी जैसे कई महान लोगों से मुलाकात की थी।