हाल ही में उत्तर प्रदेश के भदोही में एटीएम से पैसे चुराने का नया केस सामने आया है। जिसमें आरोपी फेवी क्विक के जरिए एटीएम से पैसा चुराते थे। दरअसल ये बदमाश एटीएम मशीन के कैंसिल बटन में फेवी क्विक डालकर उसे जाम कर देते थे। इससे जब लोग ट्रांजेक्शन के बाद कैंसिल बटन दबाते थे, तो प्रोसेस पूरा नहीं हो पाता था। इससे ये चोर उसके अकाउंट से पैसा निकाल लेेते थे।आइए हम आपको बताते हैं ऎसे कुछ तरीके जिससे आप इस तरह के फ्रॉड से बच सकते हैं.इस लिंक पर :-

इतना ही नहीं ये बदमाश मशीन को हैंग करके, लोगों का एटीएम कार्ड बदलकर और असलहा (देसी पिस्तौल) के दम पर डरा कर पैसे निकवा लेते थे। अब पुलिस ने इन 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आइए हम आपको बताते हैं ऎसे कुछ तरीके जिससे आप इस तरह के फ्रॉड से बच सकते हैं... - 
एटीएम से पैसा निकालते वक्त ध्यान इधर-उधर भटकाने की बजाए एटीएम पर ही लगएं और अपना पिन कोड छिपाते हुए टाइप करें। जल्दबाजी ना करें और रसीद मिलने के बाद कैंसिल बटन जरूर दबाएं। इसके बाद जब आप उस ट्रांजेक्शन पेज से मैन मेन्यू में आ जाएं, तभी एटीएम से बाहर निकले।
अगर पैसे निकालते वक्त एटीएम हैंग हो जाए तो कभी जल्दबाजी में उसे छोड़ दूसरी मशीन पर ना जाएं। ये किसी शातिर दिमाग की चाल हो सकती है। इसलिए जब मशीन हैंग हो तो एटीएम के लिए मौजूद हेल्पलाइन नंबर पर सूचना दें या गार्ड व बैंक को इसकी सूचना दें।
अगर एटीएम से पैसे निकालते वक्त आपका कार्ड एटीएम मशीन में फंस जाता है तो तुरंत बैंक से संपर्क करें और अपना एटीएम कार्ड ब्लॉक करने के लिए कहे। इसके अलावा एटीएम मशीन ट्रांजेक्शन के बाद 30 सैकंड तक एक्टिव रहती है, इसलिए वेलकम लोगो तक आने तक इंतजार करें और इसके बाद ही बाहर जाएं, वरना पीछे कोई और आपके एटीएम का इस्तेमाल कर सकता है।
अगर एटीएम में कार्ड डालने पर मशीन इनवैलिड कार्ड शो करे, तो अपने बैंक के एटीएम पर जाएं और कार्ड फिर से इस्तेमाल करें। कई बार तकनीकी दिक्कत के चलते भी मशीन इनवैलिड कार्ड शो करने लगती है। यदि इसके बाद भी समस्या ना सुलझे तो अपने बैंक से संपर्क कर कार्ड बदलवा लें।