तृणमूल कोर कमेटी की बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी सुप्रीमो ममता बनर्जी के निशाने पर रहे। नजरुल मंच में नेताओं को संबोधित करने के दौरान लगभग तीन चौथाई समय का इस्तेमाल ममता ने मोदी व केंद्र की नीतियों व फैसलों की आलोचना के लिए किया। नोटबंदी को सबसे बड़ा घोटाला करार देने के साथ ही उन्होंने जीएसटी को देश की अर्थव्यस्था पर चोट करने वाला कहा। साथ ही उन्होंने केंद्र को लगभग चुनौती देते हुए कहा कि वे अपने मोबाइल को आधार नम्बर से लिंक नहीं कराएंगी। अगर सेवा प्रदाता कंपनी सेवा बंद कर देती है तो वे उसे स्वीकार कर लेंगी। पार्टी में दल विरोधी कार्य करने वाले नेताओं के लिए स्थान नहीं होने की महासचिव पार्थ चटर्जी की चेतावनी के बाद बोलने खड़ी हुईं ममता ने कहा कि केंद्र विपक्ष का गला दबाने की कोशिश हो कर रहा है। जो कोई खिलाफत करने की कोशिश करता है, उसके खिलाफ ईडी/सीबीआई लगा दिया जाता है। उन्होंने कहा कि उन्हें भी सीबीआई की धमकी दी गई?थी, जेल में डालने के लिए डराया गया, लेकिन उन्होंने झुकने से इनकार कर दिया। ममता ने कहा कि नोटबंदी का विरोध करने के लिए 8 नवम्बर को राज्य में तृणमूल काला दिवस मनाएगी। उन्होंने ने नोटबंदी की जांच की भी मांग की।

ममता ने आरोप लगाया कि केंद्र के खिलाफ मुंह खोलने पर पहले रुपए देकर खामोश कराने की कोशिश होती है, विफल रहने पर उसकी हत्या तक करा दी जाती है। उन्होंने कहा कि आधार की बाध्यता से लोगों की निजता का हनन हो रहा है। अब पति-पत्नी की बातें भी गोपनीय रह सकेंगी। लेकिन वे अपने मोबाइल को आधार से लिंक नहीं कराएंगीं तथा हम मुद्दे को संसद के अंदर व बाहर उठाएंगे। पीएम मोदी की 56 इंच की छाती वाले बयान पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि लोगों की छाती नहीं, लोगों को एक छत के नीचे लाने वाले छाता की जरुरत है।

गुजरात में मनी पॉवर ः तृणमूल सुप्रीमो ने कहा कि केंद्र, क्षेत्रीय दलों को खत्म करने के लिए कालाधन का इस्तेमाल कर रहा है। भाजपा का नाम लिए बिना ममता ने कहा कि देश में वे एक पार्टी की राजनीति स्थापित करना चाहते हैं। पाटीदार नेताओं को भाजपा द्वारा रिश्‍वत देने की खबर पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि अब गुजरात में वे वोट खरीदने के लिए कालाधन का इस्तेमाल कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र में एक तानाशाह सरकार चल रही है। ममता ने कहा कि अमेरिका में मीडिया, ट्रंप की आलोचना कर सकती है, लेकिन दिल्ली की मीडिया ऐसा नहीं कर सकती।

राम-श्याम-घनश्याम ः राम-श्याम-घनश्याम की तिकड़ी(भाजपा-कांग्रेस-माकपा) पर निशाना साधते हुए ममता ने कहा कि राजनीतिक साजिश व फायदे के लिए ऐसा होता है, लेकिन बंगाल में जनता उन्हें स्वीकार नहीं करेगी। आठ नवम्बर को नोटबंदी की वर्षगांठ पर राज्य व्यापी काला दिवस मनाने की घोषणा करते हुए ममता ने कहा कि दक्षिण कोलकाता में जुलूस का नेतृत्व सुब्रत बक्सी व पार्थ चटर्जी करेंगे जबकि उत्तर कोलकाता के जुलूस का नेतृत्व सुदीप बनर्जी करेंगे। ममता ने कहा कि तृणमूल को धमका कर उसे झुकाया नहीं जा सकता। वे(भाजपा) केवल हिंसा व धर्म की बोली बोलते हैं, लेकिन हम अन्याय के खिलाफ आवाज बुलंद करते ही रहेंगे।