पश्चिम बंगाल में राज्यपाल जगदीप धनखड़ और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बीच दिनोंदिन तल्खी बढ़ती जा रही है। यह तल्खी मंगलवार को विधानसभा में भी देखने को मिली। संविधान दिवस के मौके पर विधानसभा पहुंचे राज्यपाल, ममता बनर्जी के पास से गुजरे लेकिन उन्होंने मुख्यमंत्री को नजरंदाज किया। राज्यपाल ने वहां विपक्ष के नेता अब्दुल मन्ना का अभिवादन किया लेकिन ममता से एक शब्द भी बातचीत नहीं की। ममता बनर्जी ने कहा, 'हमारे राज्यपाल ने बहुत अच्छा भाषण दिया लेकिन वे भूल गए कि यह कश्मीर नहीं बंगाल है। उन्होंने बंगाल से ज्यादा कश्मीर के बारे में अपनी बात रखी।' मुख्यमंत्री ने कहा, 'राज्यपाल का पद संवैधानिक होता है। मेरी किसी भी राज्यपाल के साथ लड़ाई नहीं हुई है। तब वह ऐसी स्थिति क्यों उत्पन्न करते हैं।