कोलकाता. पश्चिम बंगाल से पहली श्रमिक विशेष रेलगाड़ी रविवार को राजस्थान  के बीकानेर के लिए रवाना हुई, वहीं महाराष्ट्र से फंसे श्रमिकों को लेकर एक रेलगाड़ी हावड़ा स्टेशन पहुंची. दक्षिण पूर्व रेलवे के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. राजस्थान के फंसे लोगों को लेकर 24 डिब्बे वाली रेलगाड़ी दोपहर दो बजे शालीमार स्टेशन से रवाना हुई और यह मंगलवार को बीकानेर पहुंचेगी.

रेलगाड़ी जैसे ही शालीमार स्टेशन से खुली, कई यात्रियों ने तालियां बजाईं और खुशी मनाई क्योंकि दो महीने तक फंसे होने के बाद वे अपने घर या कार्यस्थल के लिए रवाना होने से खुश नजर आए. पश्चिम बंगाल के उत्तरी 24 परगना से कई वर्ष पहले राजस्थान जाकर बस गए एक व्यक्ति ने बताया, ''मैं यहां एक कार्यक्रम में शामिल होने आया था लेकिन लॉकडाउन के कारण फंस गया.''यात्रियों की मिलेगी पानी और भोजन की सुविधा
एक व्यवसायी यहां अपने परिवार के साथ फंसे हुए थे और राजस्थान लौटना चाहते थे. उन्होंने कहा कि श्रमिक विशेष रेलगाड़ी में टिकट मिलने से वह राहत महसूस कर रहे हैं. 
मुंबई के बांद्रा से एक श्रमिक विशेष रेलगाड़ी रविवार दोपहर साढ़े तीन बजे हावड़ा स्टेशन पहुंची जिसमें फंसे हुए श्रमिक एवं अन्य लोग सवार थे.

हरिद्वार से रवाना हुई बंगाल के लिए ट्रेन पश्चिम बंगाल के 1188 प्रवासियों को लेकर हरिद्वार से श्रमिक स्पेशल शाम साढ़े चार बजे प्लेटफॉर्म नंबर एक से रवाना हुई. यात्रियों को ट्रेन के डब्बे में बैठाने के साथ ही उन्हें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की ओर से भोजन के पैकेट दिए गए.
x