पश्चिम बंगाल के एक सांसद ने ममता बनर्जी सरकार पर सनसनीखेज आरोप लगाये हैं. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद अर्जुन सिंह ने राज्यपाल जगदीप धनखड़ को पत्र लिखकर यह बात कही है. इसके बाद भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने राज्य सरकार को घेरते हुए कहा कि यदि हमारे सांसद के साथ कुछ भी अनिष्ट होता है, तो इसके जिम्मेदार ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर अजय ठाकुर होंगे. साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार को इसके परिणाम भी भुगतने होंगे.


बैरकपुर से भाजपा सांसद अर्जुन सिंह ने राज्यपाल जगदीप धनखड़ को एक चिट्ठी लिखी है. इसमें उन्होंने आरोप लगाया है कि ममता बनर्जी के आदेश पर ज्वाइंट सीपी अजय ठाकुर उनकी हत्या करना चाहते हैं. इस पुलिस अधिकारी से सांसद और उनके परिवार को खतरा है. सांसद ने आरोप लगाया कि पुलिस अफसर उनके दफ्तर में अपनी टीम के साथ पहुंचे और सब तहस-नहस कर दिया.श्री सिंह ने आरोप लगाया कि 14 मई की शाम 7:30 बजे मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देश पर श्री ठाकुर अपने 35 सहयोगियों के साथ उनके कार्यालय के पास पहुंचे और संदेहास्पद रूप से उसके आसपास घूमने लगे. जब उनके सिक्यूरिटी-इन-चार्ज ने उन लोगों की उपस्थिति के बारे में पूछा, तो उन्होंने कहा कि वह नोटिस देने आये हैं. लेकिन, जब नोटिस मांगा गया, तो तत्काल उपलब्ध कराने में असमर्थ रहे.

बाद में एक सब- इंस्पेक्टर ने उनके सामने ही नोटिस लिखा. सांसद ने आरोप लगाया कि उन्हें मिली सूचना के अनुसार, पुलिस उनकी और उनके परिवार के सदस्यों की हत्या करने आयी थी. श्री ठाकुर के 35 सदस्यों और सहयोगियों में दो क्रिमिनल भी थे, जो सिविल ड्रेस में थे. उन्होंने कहा कि मेरे खिलाफ अभी तक पुलिस ने 75 झूठे मामले दर्ज कर लिये हैं.
उन्होंने राज्यपाल से अनुरोध किया कि वे अजय ठाकुर और श्री घोष के खिलाफ जांच के आदेश दें. दूसरी ओर, शुक्रवार को भारतीय

जनता पार्टी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने ममता सरकार पर अपनी पार्टी के सांसद की जान का दुश्मन होने का आरोप लगाया. श्री विजयवर्गीय ने इस दौरान एक पुलिस अफसर को निशाने पर लिया.
श्री विजयवर्गीय ने ट्वीट कर लिखा, ‘पुलिस है या सुपारी डॉन? पश्चिम बंगाल पुलिस भाजपा के एक सांसद की जान की दुश्मन बनी हुई है. करीब साल भर से कई तरह के हथकंडे अपनाकर बैरकपुर के ज्वाइंट सीपी अजय ठाकुर उनके पीछे पड़े हैं. यदि हमारे सांसद के साथ कुछ भी अनिष्ट होता है, तो इसके जिम्मेदार अजय ठाकुर होंगे!’