मुर्शीदाबाद जिले से सांसद अधिरंजन चौधरी ने कहा, " पिछले कुछ दिनों में, लोगों के अस्वस्थ और अमानवीय स्थिति की शिकायत करने , पृथकवास केंद्रों से भागने की खबरें आई हैं। हालत इतने खराब हैं कि अगर किसी सामान्य इंसान को पृथकवास केंद्र में रखा जाए तो वह संक्रमित हो जाए। "उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के पिछले दो महीने के दौरान राज्य सरकार को अधिक पृथकवास केंद्र स्थापित करने और वहां सुविधाओं को दुरूस्त करने के लिए उपाय करने चाहिए थे। कांग्रेस नेता ने कहा, " सरकार ने इसके उलट किया। वह प्रवासी श्रमिकों के मुद्दे पर राजनीति करती रही। शुरुआत में, पहले सरकार उन्हें वापस लाने में हिचक रही थी, और अब जब वे मजबूर हुई है तो उनको उनके हाल पर छोड़ दिया है। " लोकसभा में कांग्रेस के नेता ने कहा कि पृथकवास केंद्रों में खराब सुविधाओं की वजह से राज्य में मामले बढ़ रहे हैं।राज्य में हाल के दिनों में संक्रमितों की संख्या में तेज इजाफा हुआ है।