कोलकाता के काकुड़गाछी सीआईटी रोड पर स्थित त्रिवेणी क्लीनिक के मालिक को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं इस मामले से जुड़े दो अभियुक्त फरार बताए जा रहे हैं। हाल ही में क्लीनिक को अवैध रूप से कोरोना वायरस की जांच करने के आरोप में सील कर 10 लाख रुपये का जुर्माना ठोंका गया था। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार क्लीनिक ने अवैध रूप से कोरोना वायरस की जितनी जांच की सबकी रिपोर्ट निगेटिव बताई है।

 

दरअसल दो दिन पहले ही त्रिवेणी क्लीनिक द्वारा अवैध रूप से कोरोना वायरस की जांच करने की रिपोर्ट फूलबगान थाने में की गई थी। इसके बाद ही पुलिस ने राज्य स्वास्थ्य विभाग की इजाजत के बाद क्लीनिक को सील कर दिया था। इसके दो दिन पहले ही मीडिया में खबरे आई थीं कि काकुड़गाछी के त्रिवेणी क्लीनिक में कोरोना वायरस की फर्जी जांच हो रही है। स्वास्थ्य विभाग ने दण्ड स्वरूप त्रिवेणी क्लीनिक पर 10 लाख रूपए का जुर्माना भी लगाया है।

 

क्लीनिक संचालक रतन गुप्ता ने क्लीनिक में कोविड टेस्ट करने औऱ मरीज से रूपए लेने की बात स्वीकार की है। उनका कहना है कि आईसीएमआर से उनकी बात हुई थी। उन्हें लाइसेंस लेकर बुलाया गया था और कहा गया था कि लाइसेंस में कोविड के लिए अधिकृत करके संशोधन कर दिया जाएगा।

क्लीनिक के संचालक रतन गुप्ता ने क्लीनिक में कोरोना वायरस टेस्ट करने और मरीज से रूपए लेने की बात स्वीकार की थी। उसने कहा था कि आईसीएमआर से उनकी बात हुई थी। उन्हें लाइसेंस लेकर बुलाया गया था और कहा गया था कि लाइसेंस में कोरोना के लिए अधिकृत करके संशोधन कर दिया जाएगा। काकुड़गाछी-फूलबागान अंचल में त्रिवेणी क्लीनिक समूह के दो केंद्र हैं। दोनों को सील कर दिया गया है।

 

पिछले सप्ताह प्रताड़ित परिवार की ओर से फूलबागान थाने को सूचित किया गया कि चार-चार हजार रुपए लेकर परिवार के दो लोगों की उस क्लीनिक में कोरोना वायरस की जांच की गयी। दोनों मरीज रिश्ते में पिता-पुत्र हैं। क्लीनिक की रिपोर्ट में दोनों की कथित कोविड रिपोर्ट निगेटिव बताई गयी।

 

संदेह होने पर दोनों ने बाद में सरकार द्वारा अधिकृत लैब में परीक्षण कराया तो दोनों में कोरोना संक्रमण पाया गया। इसके बाद परिवार की चिन्ता भी बढ़ी, साथ ही परिवार को बीमारी के नाम पर ठगे जाने का भी आभास हुआ। परिवार ने थाने में लिखित शिकायत दर्ज करके जांच से संबंधित सारे कागजात भी दिए। पुलिस तुरन्त जांच में जुट गयी।

 

डिसक्लेमर: यह आर्टिकल एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड हुआ है। इसे 10तकन्यूज़.कॉम की टीम ने एडिट नहीं किया है।