इन दिनों पूरे देशभर में गणेश उत्सव की धूम मची हुई है। जिधर देखो उधर बस गणेश महोत्सव की चर्चाओं का दौर जारी है। अगर बात की जाए मायानगरी मुम्बई की तो यहां तो पूरा शहर ही गणेशमय बना हुआ है। 
यहां तो गणेश महोत्सव को सबसे बड़े त्यौहार के रूप में मनाया जाता है। शहर का प्रत्येक व्यक्ति दस दिनों तक चलने वाले महोत्सव में बस गणेशजी के रंग में ही रंगा नजर आता है। चाहे बॉलीवुड कलाकार हो या क्रिकेट स्टार कोई भी इससे से अछूता नहीं है। इसे यहां पर राष्ट्रीय एकता के प्रतीक के रूप में देखा जाता है। 
फिर भारत के दिग्गज क्रिकेट सचिन तेंदुलकर गणेशजी के रंग में रंगने से कैसे बच सकते हैं। लालबाग, परेल स्थित गणेश मंदिर मुम्बई के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है। यहां पर गणेशजी को लालबाग के राजा के नाम से जाना जाता है।
भारत के पूर्व महान क्रिकेट सचिन तेंदुलकर भी लालबाग के राजा के दर्शनों का मौका नहीं चूकते हैं। पिछले वर्ष भी वह अपने परिवार के साथ मुंबई के लालबाग के राजा यानी गणपति के दरबार आशीर्वाद लेने पहुंचे थे। इस मौके पर उनके साथ उनका बेटा अर्जुन तेंदुलकर, पुत्री सारा और पत्नी अंजलि तेंदुलकर भी थे।
मुंबई में गणेश उत्सव को विशेषतौर पर बेहद हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं। इसकी छटा देखने वाली होती है। गणेश चतुर्थी के दिन लालबाग के राजा के दर्शनों के लिए सुबह से ही भक्तों का जमावड़ा लगना शुरू हो जाता है। वहां लगने वाले पंडालों की रौनक को भी देखना बनता है।
आज हालत यह है कि लालबाग के राजा के दर्शन करना ही अपने आप में भाग्यशाली माना जाता है। यहां मन्नते मांगी जाती है और बताया जाता है कि लोगों की मन्नते पूरी भी होती है।  सचिन के अलावा टीम इंडिया के उपकप्तान रोहित शर्मा और अजिंक्या रहाणे भी अपने आप को लालबाग के दर्शन पाकर भाग्यशाली मानते हैं।