पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र काशी में एक जोड़े ने नोटबंदी का समर्थन किया है। इस जोड़े ने मेहमानों को सिर्फ चाय औए रसगुल्ले खिलाकर शादी को संपन्न कर मिसाल कायम की।
बता दें कि काशी की रहने वाली रिचा और राज की शादी 27 नवंबर को होनी थी। नोटबंदी का असर उनकी शादी पर भी पड़ा लेकिन उन्होंने शादी के खर्चे से दूर सिर्फ चाय और रसगुल्ले पर शादी करने का फैसला लिया। उन्होंने बताया कि नोटबंदी का फैसला देशहित में है। इसके लिए प्रत्येक नागरिक को पीएम का साथ देना चाहिए।
क्या कहते हैं दूल्हा बने राज?
अगर मेरे और रिचा के परिवार वाले ढाई-ढाई लाख रुपए निकाल लेते तो कैश किल्लत से जूझ रहे लोगों को बैंक से मायूस होकर जाना पड़ता। ये पैसे दो हजार रुपए के हिसाब से 250 जरूरतमंदों के काम आए होंगे।
ये शादी बनीं चर्चा का विषय
पूरे काशी में ये शादी चर्चा का विषय बनी हुई है। नोटबंदी की वजह से शादियों में कैश की दिक्कत के कारण लोग परेशान हैं। वहीं दूसरी ओर काशी के इस परिवार ने ऐसा फैसला कर सारी परेशानियों को हरा दिया। उन्होंने शादी का न्योता महंगे कार्ड के बजाय हल्दी और सुपारी से दिया। इस शादी को गेस्ट हाउस के बजाय लक्ष्मी कुंड जैसे सावर्जिक स्थल से किया गया। मेहमानों को लजीज व्यंजन की जगह चाय, समोसे और रसगुल्ले परोसे गए।